मंगलवार, 23 फ़रवरी 2010

स्कैफ़ोल्डिंग (Scaffolding) – कोड इग्नाइटर

स्कैफ़ोल्डिंग को कोड इग्नाइटर १.६.० संस्करण से ही अवमानित(deprecated) किया जा रहा है.

कोड इग्नाइटर की स्कैफ़ोल्डिंग सुविधा आपको अपने डाटाबेस में से जानकारियों को जोड़ने, संपादित करने तथा हटाने का आसान और तेज तरीका प्रदान करती है.

अति महत्वपूर्ण: स्कैफ़ोल्डिंग केवल डेवलपमेंट के दौरान उपयोग के लिये है. यह बहुत कम सुरक्षा प्रदान करती है. अत: जो कोई भी आपकी कोड इग्नाइटर साइट तक पहुंच सकता है वह आपकी जानकारियों को संपादित तथा मिटा भी सकता है. यदि आप स्कैफ़ोल्डिंग उपयोग करते हैं तो उपयोग के तुरंत पश्चात उसे अक्षम भी कर दें. इसे सजीव साइट में सक्षम ना रखें. और हां इसे प्रयोग करने के पहले एक गुप्त शब्द जरूर सेट कर दें.

स्कैफ़ोल्डिंग की जरूरत क्यों?

जरा इस परिदृश्य पर नजर डालते हैं: डेवलपमेंट के दौरान आप एक नई डाटाबेस टेबल बनाते हैं तथा आप उसमें आंकडे़ जोड़ने का असान तरीका चाहते हैं ताकि उसपर काम किया जा सके. बिना स्कैफ़ोल्डिंग के आपके पास दो विकल्प रहते हैं कि या तो आप कुछ रिकार्डों को कमांड के जरिये जोड़ें या फ़िर किसी डाटाबेस मैनेजमेंट टूल जैसे कि पीएचपीमाईएडमिन का इस्तेमाल करें. कोड इग्नाइटर के स्कैफ़ोल्डिंग सुविधा से आप अपने ब्राउजर इंटरफ़ेस का प्रयोग करते हुये कुछ आंकड़ों को डाटाबेस में भर पायेंगे तथा उपयोग के पश्चात आसानी से डिलीट भी कर पायेंगे.

गुप्त शब्द सेट करना

स्कैफ़ोल्डिंग को सक्षम करने के पहले गुप्त शब्द को सेट करना पड़ेगा. जब इस शब्द को यूआरएल में भरा जायेगा तभी आपका स्कैफ़ोल्डिंग इंटरफ़ेस खुलेगा, अत: कोई ऐसा शब्द चुनें जिसका कोई अनुमान ना लगा सके.

गुप्त शब्द को सेट करने के लिये अपनी application/config/routes.php फ़ाइल खोलें तथा इस लाइन को देखें:

$route['scaffolding_trigger'] = '';

जब यह लाइन आपको मिल जाये तो इसमें अपना कोई विशेष शब्द जोड़ दें.

नोट स्कैफ़ोल्डिंग शब्द को अंडरस्कोर से शुरू नही किया जा सकता है.

स्कैफ़ोल्डिंग सक्षम करना

नोट: इस पेज उपस्थित जानकारी देते हुये हम यह मान के चल रहे हैं कि आप यह पहले से ही जानते हैं कि कंट्रोलर कैसे काम करते हैं, तथा आपके पास एक काम करता हुआ कंट्रोलर पहले से ही है. हम यह भी मान के चल रहे हैं कि आपने कोड इग्नाइटर को स्वत: ही डाटाबेस से जुड़ने हेतु विन्यासित किया है. आखिर में हम यह भी मान के चल रहे हैं कि आप यह जानते हैं कि क्लास कंस्ट्रकटर क्या होता है. यदि नही तो सबसे पहले कंट्रोलर वाले पेज का आखिरी हिस्सा पढें.

स्कैफ़ोल्डिंग को सक्षम करने के लिये कंस्ट्रक्टर में आपको इसे इस प्रकार आरंभ करना पड़ेगा:

<?php
class Blog extends Controller {
       function Blog()
       {
            parent::Controller();
$this->load->scaffolding('table_name');
       }
}
?>

यहां table_name वह टेबल (जी हां! टेबल. ना कि डाटाबेस) है जिसके साथ आप काम करना चाहते हैं.

एक बार जब आप स्कैफ़ोल्डिंग आरंभ कर देते हैं तो फ़िर आप इस तक इस प्रकार के यूआरएल के द्वारा पहुंच सकते हैं.

example.com/index.php/class/secret_word/

उदाहरण के लिये Blog नामक कंट्रोलर में abracadabra गुप्त शब्द का इस्तेमाल करते हुये आप स्कैफ़ोल्डिंग तक इस प्रकार पहुंच सकते हैं.

example.com/index.php/blog/abracadabra/

स्कैफ़ोल्डिंग का इंटरफ़ेस बेहद आसान होता है. ये आपको अपने आप ही समझ आ जायेगा.

आखिर में

स्कैफ़ोल्डिंग उन्ही टेबलों में काम करती है जिनमें "प्राइमरी कुंजी" निर्धारित होती है. ऐसा इसलिये क्योंकि विभिन्न डाटाबेस कार्यों को निष्पादित करने के लिये इस जानकारी की जरूरत पड़ती है.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लाग में प्रकाशित सामग्री कापीराईट द्वारा सुरक्षित है. बिना अनुमति इसका किसी भी प्रकार से अन्यत्र प्रयोग/प्रकाशन मूल रूप में/बदल कर उपयोग नही किया जा सकता है.

हिंदी में तकनीकी लेखन को प्रोत्साहित करें

please donate अभी तक वेब डेवलपमेंट अथवा प्रोग्रामिंग आदि से संबंधित जानकारी पर अंग्रेजी का एकाधिकार रहा है. भारत में इतने आई टी गुरू होने के बावजूद भारतीय भाषाओं में इस विषय पर लेखन नगण्य है. इस ब्लाग के माध्यम से मैं हिन्दी भाषिओं तक वेब डेवलपमेंट का ज्ञान पहुंचाने की कोशिश कर रहा हूं. अत: आप सभी से अनुरोध है कि हिंदी में तकनीकी लेखन के लिये सहयोग करें
मैं वेबसाइटें भी बनाता हूं. यदि आपको बनवानी हो तो बताएं.

ARCHIVES

इस ब्लॉग में खोजें

समर्थक