मंगलवार, 23 फ़रवरी 2010

वेब पेजों की कैशिंग – कोड इग्नाइटर

अधिक निष्पादन के लिए कोड इग्नाइटर आपके पेजों को कैश कर सकता है.

कोड इग्नाइटर की गति तेज है पर जो परिवर्तनशील जानकारी आप अपने पेजों में दिखाते हैं वो आपके सर्वर के संसाधनों, मेमोरी की खपत करती है. इससे गति कुछ कम भी हो सकती है. पर कैशिंग के द्वारा आप अपने पेजों की गति को बढ़ा सकते हैं क्योंकि ये अपने पूरी अंतिम अवस्था में सुरक्षित हो जायेंगे. जब दोबारा अनुरोध भेजा जायेगा तो पेज को संसाधित करने की बजाय उसके कैश किये हुये/सुरक्षित किये हुये संस्करण को बाउजर में भेज दिया जायेगा. अत: आप इससे लगभग स्थैतिक (स्टैटिक) पेजों जितना कार्य निष्पादन पा सकते हैं.

कैशिंग किस तरह काम करती है?

कैशिंग को प्रति पेज के हिसाब से सक्षम किया जा सकता है, तथा आप किसी पेज के कैश रहने के लिये समय सीमा भी बना सकते हैं. जब पेज को पहली बार लोड किया जाता है तब एक कैश फ़ाइल आपके system/cache फ़ोल्डर में लिख दी जाती है. बाद के पेज लोड में कैश फ़ाइल को प्राप्त करके ब्राउजर में भेज दिया जाता है. यदि यह एक्सपायर हो गई हो जाती है तो इसे मिटा दिया जाता है और नई फ़ाइल बनाकर उसे कैश करने के साथ ही ब्राउजर में भेज दिया जाता है.

नोट: Benchmark tag को कैश नही किया जाता है अत: आप कैशिंग सक्षम होने पर भी पेज लोड होने की गति देख पायेंगे.

कैशिंग को सक्षम करना

कैशिंग को सक्षम करने के लिये, नीचे लिखे गये कोड को किसी भी कंट्रोलर फ़ंग्शन में लिख दीजिये:

$this->output->cache(n);

जहां n मिनटों को बताता है जब तक कि आप अपने पेज को कैश रखना चाहते हैं.

ऊपर वाला कोड, फ़ंग्शन के बीच में कहीं भी रह सकता है. यह अपनी स्थित से प्रभावित नही होता है, अत: आप इसे जहां उपयुक्त लगे वहां रख सकते हैं. एक बार यह कोड रख दिया जाता है तो आपके पेज कैश होना शुरू हो जाते हैं.

चेतावनी: कैशिंग तभी काम करेगी जब आप view का प्रयोग अपने कंट्रोलरों में करेंगे क्योंकि कोड इग्नाइटर व्यू को कैश करता है.

नोट: कैश फ़ाइलों के लिखे जाने से पहले system/cache फ़ोल्डर की परमीशन कुछ इस तरह बदल देनी चाहिये ताकि इसके अंदर लिखा जा सके.

कैश मिटाना

यदि आप कैश फ़ाइलों का निर्माण बंद करना चाहते हैं तो आप ऐसा कैश वाले कोड को हटाकर कर सकते हैं. नोट: कैश टैग को हटाने से कैश तुरंत खत्म नही हो जाती है. यह सामान्य तरीके से खत्म होगी. यदि आपको इसे पहले से हटाने की जरूरत है तो आपको इसे स्वयं कैश फ़ोल्डर से हटाना पड़ेगा.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लाग में प्रकाशित सामग्री कापीराईट द्वारा सुरक्षित है. बिना अनुमति इसका किसी भी प्रकार से अन्यत्र प्रयोग/प्रकाशन मूल रूप में/बदल कर उपयोग नही किया जा सकता है.

हिंदी में तकनीकी लेखन को प्रोत्साहित करें

please donate अभी तक वेब डेवलपमेंट अथवा प्रोग्रामिंग आदि से संबंधित जानकारी पर अंग्रेजी का एकाधिकार रहा है. भारत में इतने आई टी गुरू होने के बावजूद भारतीय भाषाओं में इस विषय पर लेखन नगण्य है. इस ब्लाग के माध्यम से मैं हिन्दी भाषिओं तक वेब डेवलपमेंट का ज्ञान पहुंचाने की कोशिश कर रहा हूं. अत: आप सभी से अनुरोध है कि हिंदी में तकनीकी लेखन के लिये सहयोग करें
मैं वेबसाइटें भी बनाता हूं. यदि आपको बनवानी हो तो बताएं.

ARCHIVES

इस ब्लॉग में खोजें

समर्थक